भारत सरकार
रक्षा मंत्रालय
रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक
(दक्षिणी कमान) पुणे

::होम हमारे बारे में प्रशासन लेखा लेखापरीक्षा आई.एफ.ए आई.टी  क्लाइंट क्षेत्र शिकायत
लेखा अनुभाग

 
:: 00/020/81 का समायोजन ( चेक व बिल)

:: चेक जारी करते समय

:: लेखा अनुभाग - डेबिट स्क्रॉल

:: ईसीएस एवं ईएफ़टी मैकानिज़म

:: चैक ट्रंकेशन व्यवस्था (सीटीएस)

00/020/81 का समायोजन ( चेक व बिल)

रक्षा सेवाओं की ओर से सभी भुगतान खजाना या बैंक में रक्षा लेखा विभाग के अधिकारियों तथा कुछ मामलों में रक्षा सेवाओं के अधिकारिओयोन द्वारा चेक आदि से किया जाता है । भारतीय स्टेट बैंक तथा सम्मिलित बैंक की प्रत्येक संबन्धित शाखा फोकल पॉइंट ब्रांच (एफ़पीबी) को चेकों / एमआरओ पर आधारित दैनिक स्क्रोल प्रस्तुत करेगी । भारतीय रिजर्व बैंक की संबन्धित शाखाएँ एफ़पीबी की तरह कार्य करेंगी तथा उनका मुख्य स्क्रॉल सीधे संबन्धित रक्षा लेखा नियंत्रक को भेजेगी । संबन्धित शाखाओं से रोज प्राप्त होनेवाली स्क्रॉल के आधार पर भारतीय स्टेट बैंक के फोकल पॉइंट ब्रांच (एफ़पीबी) द्वारा मुख्य स्क्रॉल तैयार किया जाएगा तथा भुगतान किए गए चेकों / एमआरओ के आधार पर हर दिन रक्षा लेखा नियंत्रक को भेजा जाएगा । तथापि, यह प्रक्रिया पेंशन व्यवहार के लिए लागू नहीं है, जहां भारतीय स्टेट बैंक की शाखाओं द्वारा स्क्रॉल सीधे रक्षा लेखा प्रधान नियंत्रक, इलाहाबाद भेजे जाते हैं । दैनिक स्क्रॉल रक्षा लेखा नियंत्रक कार्यालय के लेखा अनुभाग में प्राप्त किए जाएंगे तथा बाद में मासिक डीएमएस योग व रक्षा लेखा नियंत्रक, सीएएस नागपुर द्वारा योग से मिलाने के बाद भुगतान किए गए चेक / एमआरओ कर्मचारियों को शेडुल-IIIके साथ लिंकिंग के लिए कर्मचारियों को सुपुर्द किया जाता है । चेक जारी करते समय लेखापरीक्षा अनुभाग द्वारा किया जानेवाला समायोजन एवं डेबिट स्क्रॉल / भुगतान किए गए चेकों की प्राप्ति पर लेखा अनुभाग द्वारा किया जानेवाला समायोजन निम्न प्रकार से है -